माघ मेले का पहला स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

12_01_2017-12-01-2017--संगमनगरी इलाहाबाद में गंगा तथा यमुना नदी के संगम स्थल पर आज लाखों श्रद्धालुओं ने पौष पूर्णिमा के पर्व पर डुबकी लगाई। माघ मेला का आगाज आज से इसी स्नान से हो गया है। दिन में दस बजे तक ही दस लाख से अधिक लोग स्नान कर चुके थे। वहां पर अब भी लाखों लोग विभिन्न घाटों पर डुबकी लगा रहे हैं। स्नानार्थियों की सुविधा के लिए इस बार 17 घाट बनाए गए हैं।

इलाहाबाद में आज माघ मेले का आगाज हो गया। आज के दिन पुण्य लाभ को लाखों लोग संगम के तट पर हैं। कल शाम सात बजे से ही शुभ लग्न की वजह से अब तक पांच से सात लोगों ने आस्था की डुबकी लगा ली है।

यह भी पढ़ें: तीर्थराज प्रयाग में माघ मेला आज से, एक माह तक चलेगा ‘कल्पवास’

उम्मीद जताई जा रही है कि शाम तक 50 लाख लोग संगम में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित करेंगे। पौष पूर्णिमा स्नान के साथ माघ मेले का शुभारंभ हो गया। पौष पूर्णिमा बुधवार शाम 7.20 बजे ही लग गई थी लेकिन उदयातिथि की वजह से स्नान दान का क्रम तड़के चार बजे शुरू हुआ। स्नान के लिए कुल 17 घाट बनाए गए हैं। सुबह आठ बजे तक करीब चार लाख श्रद्धालुओं के स्नान का अनुमान है। जैसे जैसे दिन चढ़ रहा है, स्नानार्थी मेले में पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़ें: स्नान-दान और तप के साथ तीर्थराज में बसे तंबुओं के शहर में कल्पवास

इलाहाबाद में आज से तीस दिन तक गंगा तथा यमुना के संगम स्थल पर माघ मेला रहेगा। यहां पर तंबुओं की नगरी बसाई गई है, जहां पर लोग एक महीने तक कल्पवास करेंगे। इसी के साथ श्रद्धालु एक दिन से एक माह तक संगम तट पर रहकर वैरागी का जीवन यापन करेंगे। यह सभी लोग मोक्ष प्राप्ति की कामना करेंगे। यहां पर कल्पवास के संकल्प के साथ श्रद्धालु स्नान, अन्न-जल दान के बाद सिर्फ एक वक्त का भोजन करेंगे और भूमि शयन करेंगे। इस बार माघ मेले में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था भी की गई है। पुलिस के साथ-साथ पैरामिलिट्री फॉर्स भी लगाई गई है, ड्रोन कैमरे से भी निगरानी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *