ये है धोनी के कप्तानी छोड़ने और ब्रांड वैल्यू का कनेक्शन

महेंद्र सिंह धोनी ने 4 दिसंबर को अचानक सीमित ओवरों वाले मैच में टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लोगों को चौंका दिया। मगर, स्पोर्ट्स एक्सपर्ट्स और ब्रांड मैनेजर्स का कहना है इस फैसले से उनकी एन्डोर्समेंट वैल्यू कम हो सकती है। धोनी ने भारतीय क्रिकेट को एक नई ऊंचाई तक पहुंचाया।
धोनी की कप्तानी में भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए वर्ल्ड कप में कई बड़े टूर्नामेंट जीते। एक खिलाड़ी के रूप में भी धोनी ने जबरदस्त प्रदर्शन किया। छोटे से कस्बे से निकले कैप्टन कूल का एकदिवसीय मैचों में औसत 50 से भी ज्यादा रहा। कप्तान के रूप में धोनी का बल्ला खूब चला, जिसने करीब 54 की औसत से रन बनाए।m_id_445125_mahendra_singh_dhoni

विकेट कीपर बल्लेबाज के रूप में एकदिवसीय मैच में सबसे ज्यादा 183 व्यक्तिगत स्कोर बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। अपने शांत व्यवहार, पूरे देश में पहचान, हैंडसम लुक के कारण वह सभी ब्रांड के चहते थे। वह विज्ञापनों के लिए आठ से लेकर 12 करोड़ तक चार्ज करते थे। इससे उनकी सालाना कमाई 120 से लेकर 150 करोड़ रुपए थी।

मगर, जानकारों का कहना है कि एकदिवसीय और टी-20 मैचों की कप्तानी छोड़ने के बाद उनकी ब्रांड वैल्यू में कमी आएगी। फोर्ब्स की एनुअल फैब 40 लिस्ट 2016 के अनुसार, धोनी की ब्रांड वैल्यू साल 2015 में 21 मिलियन डॉलर से गिरकर साल 2016 में 11 मिलियन डॉलर हो गई थी। इस दौरान उनकी रैंक भी 5 से गिरकर 10 हो गई।

बावजूद इसके वह विश्व के 10 एथलीट्स में अकेले भारतीय हैं। धोनी वर्तमान में एक्साइड लाइफ इंश्योरेंस, रिवाइटल, गल्फ ऑयल, लेज, टीवीएस स्टार सिटी, लावा मोबाइल्स, ओरिएंट फैन्स, बूस्ट, मैकडॉवेल्स नंबर1, सोनाटा वॉचेस, बिग बाजार, स्पार्टन, डाबर च्यवनप्राश, मैसूर सैंडल सोप का विज्ञापन कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *