इन 10 फिल्मों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे ओमपुरी

अपनी दमदार आवाज और एक्टिंग के लिए जाने जाने वाले बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर ओम पुरी अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन अपने टेलेंट और फिल्मों के रूप में उन्होंने जो अनमोल धरोहर पीछे छोड़ी है वो हमेशा हमारी यादों में ताजा रहेगी। अपने चार दशक से भी ज्यादा लंबे करियर में ओम पुरी ने हिंदी और अंग्रजी से लेकर कन्नड़ और पंजाबी सिनेमा में काम किया और हर जगह अपनी एक अलग छाप छोड़ी।om-puri_1483682807

दर्जनों फिल्में उन्होंने कीं लेकिन कई फिल्में ऐसी रहीं जिनमें उन्होंने अपनी दमदार एक्टिंग का लोहा मनवाया। इन फिल्मों में ‘अर्धसत्य’ से लेकर ‘मकबूल’ और ‘माचिस’ शामिल हैं। आज हम आपको बताएंगे उनकी ऐसी दस फिल्मों के बारे में जो उनके दमदार अभिनय के लिए हमेशा ही याद रखी जाएंगी।

इनमे सबसे पहले नाम आता है फिल्म ‘अर्धसत्य’ का। गोविंद निहलानी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में ओम पुरी एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर के किरदार में नजर आए थे जो अपने आस-पास फैली बुराईयों से लड़ता है। इस फिल्म में ना सिर्फ ओम पुरी के अभिनय को सराहा गया बल्कि फिल्म को भी कई अवॉर्ड मिले। इतना ही नहीं इस फिल्म के लिए ओम पुरी को बेस्ट एक्टर के लिए नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया।

दूसरी फिल्म है ‘आक्रोश’। इस फिल्म को भी गोविंद निहलानी ने डायेरक्ट किया था। फिल्म की कहानी एक सत्य घटना पर आधारित थी जिसमें न्यायपालिका में फैले भ्रष्टाचार पर तंज कसा गया था और दिखाया था कि किस तरह गरीब और लाचार लोगों को अमीरों द्वारा प्रताड़ित किया जाता है। फिल्म को जहां बेस्ट फीचर फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड दिया गया वहीं इसमें निभाए किरदार के लिए ओम पुरी को फिल्मफेयर का बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवॉर्ड दिया गया।

‘आरोहण’ भी एक ऐसी फिल्म है जिसमें ओम पुरी ने अपने अभिनय की मिसाल पेश की। श्याम बेनेगल की इस फिल्म में निभाए किरदार के लिए ओम पुरी को बेस्ट एक्टर नेशनल अवॉर्ड दिया गया। इस फिल्म में ओम पुरी ने एक गरीब किसान का किरदार निभाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *