भेडियो की तरह 15 साल की लड़की के जिस्म से हवस की प्यास मिटाते रहे कई दरिंदे, रोंगटे खड़े कर देगी यह घटना

वो जब महज 15 साल की थी तो टैक्सी ड्राइवर ने उसका अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद उसे एक घर में कैद कर उसके साथ बलात्कार किया गया। हवस का यह खेल कोई एक या दो दिन नही बल्कि 13 साल तक चला। दरिंदगी पर आमादा उस इंसान ने तो रेप किया ही साथ ही साथ उसे दुसरो के सामने भी परोसा गया। 13 सालो से चार दिवारी के अंदर दरिंदो की हवस एक लड़की पर तांडव मचा रही थी लेकिन किसी को भनक तक नही लगी। दुष्कर्म का शिकार लड़की ने चार बच्चों को भी जन्म दिया लेकिन उन्हें भी उस वहशी टैक्सी ड्राइवर ने बेच दिया। यह खबर पढ़कर आपके भी रोंगटे खड़े हो गए होंगे लेकिन इस हैरान करने वाली कड़वी सच्चाई का खुलासा खुद पीड़िता अन्ना रुस्टन ने अपनी नई किताब सीक्रेट स्लेव में किया है।made-concubines-daughter-abortion-was-repeatedly-gets-the-rap-ginn-comes-from-a-father

यह घटना ब्रिटेन की है जहां एक ब्रिटिश महिला को एशियाई मूल के टैक्सी ड्राइवर मलिक ने अपने घर में गुलाम बनाकर रखा और 13 साल तक उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता रुस्टन के मुताबिक जिस समय वो महज 15 साल की थी उस दौरान मालिक में उसे किडनैप कर लिया और कई दफा उसके साथ बलात्कार किया। न सिर्फ मालिक ने उसे हवस का शिकार बनाया बल्कि अन्य कई लोगो के सामने भी उसे परोसा गया। घर में उसे शौचालय के कोने में रखा रहने दिया जाता था। रिपोर्ट में रुस्टन ने लिखा कि मलिक के परिवार में उसकी मां, भाई और उनकी पत्नियां शामिल थी, लेकिन किसी ने भी रुस्टन की कोई भी मदद नहीं की।

रुस्टन ने बताया कि उसका कोई करीबी परिवार का सदस्य नहीं था। दादी के निधन के बाद उसके माता-पिता उसे अपने साथ रखने के लिए तैयार नहीं थे। वह अपने एक दोस्त के साथ रह रही थी। यह सब तब शुरू हुआ जब उसने अपने पहले लगाव पर भरोसा किया। मलिक ने उसे अपने घर पर आमंत्रित किया और उसके परिवार ने भी उसका स्वागत किया। मगर, तुरंत ही परिस्थितियां बदल गईं और मलिक ने उसके साथ रेप करना शुरू कर दिया, जो 13 साल तक जारी रहा। उसने अपनी किताब में लिखा कि जब उसे पता चला कि वह पहली बार गर्भवती थी, तो उसे बहुत खुशी मिली। मगर, यह खुशी लंबे समय तक नहीं टिकी और उसके पहले बेटे को मलिक ने छीन लिया। उसे डर है कि मलिक ने उसे बेच दिया होगा।

उसने इन सब से ऊभ कर एक बार पीछे के दरवाजे से भागने की कोशिश भी की थी, लेकिन इसके बाद उसे बुरी तरह से पीटा गया था। बाद में दोबारा वह ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। जब उसने आत्महत्या करने की कोशिश की, तो हेल्थ विजिटर के रूप में मदद उसके सामने आई। उसी ने उसे भागने में मदद की। मगर, इस घटना के 16 साल बीत जाने के बाद भी वह अपने साथ हुए अत्याचारों को भूल नहीं पाई है। रुस्टन ने बताया कि वह अब भी पुलिस में शिकायत दर्ज कराने से डरती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *