पढ़िए, कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी की ये रियल लाइफ ‘अनटोल्ड स्टोरी’

कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट कप्तानी से अलविदा कह दिया है। इससे खेल प्रेमी हताश है। आइए जानते हैं ‘माही’ की ये रियल लाइफ अनटोल्ड स्टोरी…dhoni_1468299791
 क्रिकेट की दुनिया में कई अवॉर्ड और ‌रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने 2010 साक्षी रावत के साथ शादी कर सबको चौका दिया था। माही साक्षी के साथ 4 जुलाई को विवाह बंधन में बंधे।

साक्षी धोनी को शादी से पहले क्रिकेट में रुचि नहीं थी, लेकिन क्रिकेट की दुनिया के बेहतरीन खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी से शादी होने के बाद से साक्षी लगभग हर मैच में दिखाई देती हैं।

आइए जानते हैं कि कैसे बढ़ी भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और साक्षी की मुलाकात और शादी तक पहुंचने की कहानी।   

माही ने कोलकाता की साक्षी सिंह रावत के साथ देहरादून में शादी की। हालांकि माही की तरह ही साक्षी भी मूल रूप से उत्तराखंड की हैं।

हालांकि महेंद्र सिंह धोनी झारखंड के रांची में पैदा हुए लेकिन उनका परिवार उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले से हैं। दोनों का उत्तराखंड से कनेक्‍शन होने के कारण साक्षी और धोनी को बचपन का दोस्त माना गया।

 महेंद्र सिंह धोनी

धोनी के पिता पान सिंह एमईसीओएन (भारत सरकार का स्टील उत्पादन का कारखाना) में नौकरी की वजह से रांची जाकर बस गए।

साक्षी और धोनी के पिता एमईसीओएन में साथी थे। बाद में साक्षी के पिता केनोई ग्रुप की बीनागुरी चाय कंपनी में कार्यकारी निदेशक बन गए।  

साक्षी और महेंद्र सिंह धोनी रांची के डीएवी श्यामली स्कूल में पढते थे। बाद में साक्षी का परिवार देहरादून जाकर बस गया। साक्षी के दादाजी देहरादून में वन विभाग के सेवानिवृत अधिकारी थे।

इस तरह साक्षी और धोनी के प्यार की शुरुआत हुई

साक्षी की आगे की शिक्षा देहरादून के वेल्‍हम स्कूल में हुई और बाद में उन्होंने औरंगाबाद के इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट से डिग्री हासिल की।

साक्षी ने अपनी ट्रेनिंग कोलकाता के ताज बेंगाल होटल में पूरी की। जब भारतीय टीम पाकिस्तान के साथ इडन गार्डन में होने वाले मैच के लिए ताज में रुकी थी तब 

ताज बेंगाल होटल में 2008 को साक्षी और धोनी की फिर से मुलाकात हुई। युद्धजीत दत्ता साक्षी और धोनी के दोस्त थे और उन्होंने ही दोनों की मुलाकात करवाई।

 बाद में धोनी ने युद्धजीत से साक्षी का नंबर लिया और उन्हें मैसेज किया। पहले साक्षी को इस बात का विश्वास नहीं हुआ कि उन्हें धोनी ने मैसेज किया है। और इस तरह साक्षी और धोनी के प्यार की शुरुआत हुई जो 2010 में शादी के रूप में सबके सामने आई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *