करण जौहर को लगता है जमाने से डर, नहीं कर सकते सामना

फिल्म निर्माता करण जौहर ने कहा है कि उनकी विचारधारा ‘उदारवादी’ ही रहेगी, लेकिन उन्हें अपने विचारों को स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने में ‘डर’ लगता है। करण जौहर ने ‘बॉलीवुड राउंडटेबल 2016 विद राजीव मसंद’ के दौरान कहा, “मैं उदारवादी हूं। कई चीजों को लेकर मैं बेहदdc-cover-rmf9n1v6corv8udue8ptg8jqe4-20161023180743-medi प्रगतिशील हूं। लेकिन मैं ऐसा महसूस करता हूं कि मैं कुछ बोल नहीं सकता हूं। मुझे लगता है कि मैं पाशविक मानसिकता वाले मूक समाज में शामिल हो गया हूं।”

फिल्मकार ने कहा, “अपनी फिल्म में किसी मुद्दे को उठाने में मुझे डर लगता है। मुझे कोई राय व्यक्त करने में डर लगता है और फिर तब डर महसूस करता हूं, जब मेरी फिल्म रिलीज होने जा रही होती है।”

करण जौहर है सबसे ज्यादा अनसेफ

उन्होंने कहा, “अभिनेता धरती पर सर्वाधिक जोखिम से घिरे और असुरक्षित व्यक्ति हैं और मुझे लगता है कि इससे केवल पेशेवर तरीके से निपटना आपके वश की बात नहीं है। बेहद कम उम्र में मैंने पाया है कि आप उनके सलाहकार, मार्गदर्शक, चिकित्सक और सबकुछ हैं।”

 करण जौहर की हालिया फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ में पाकिस्तानी कलाकार फवाद खान को लेकर काफी विवाद हुआ था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *