जानें, गजानन को क्यों प्रिय है मोदक का भोग…

भगवान को बिना प्रसाद चढ़ाए हर पूजा अधूरी है. जैसे हम सभी को खाने में कुछ खास चीजें अच्छी लगती हैं, उसी तरह प्रसाद में हर देवी-देवता की अलग-अलग पसंद हैं. आइए जानें किस भगवान को भोग में क्या अर्पित करना चाहिए:shiv-ji_070816015533

 लक्ष्मी जी को धन की देवी माना गया है. इन्हें प्रसन्न करने के लिए इनके प्रिय भोग को लक्ष्मी मंदिर में जाकर अर्पित करना चाहिए. लक्ष्मी जी को सफेद और पीले रंग के मिठाई, केसर-भात बहुत पसंद हैं. कम से कम 11 शुक्रवार एक लाल फूल चढ़ाकर मां लक्ष्मी उन्हें यह भोग लगाने से घर में शांति और समृद्धि रहती है. कभी धन की कमी नहीं रहती.
 श्री हरि को सूजी का हलवा और पंचामृत बहुत प्रिय है. सूजी का हलवा घी में बनाएं और इसमें सूखे मेवे मिलाकर भगवान को भोग लगाएं. हर रविवार और गुरुवार को विष्णु-लक्ष्मी मंदिर में जाकर उनको भोग लगाने से दोनों प्रसन्न होते हैं और घर में किसी भी प्रकार से धन और संपन्नता की कमी नहीं होती है. इनके भोग में तुलसी जरूर रखें.
 शिव को भांग और पंचामृत पसंद है. शिवलिंग को दूध, दही, शहद, शक्कर, घी, जल से स्नान कराकर भांग-धतूरा, इत्र, चंदन, फूल, रोली, वस्त्र अर्पित किए जाते हैं. शिवजी को रेवड़ी, चिरौंजी और मिश्री भी चढ़ाई जाती है. सावन में भोलेनाथ का व्रत रखकर उनको गुड़, चना और चिरौंजी के अलावा दूध चढ़ाने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है.
 दुर्गा को शक्ति माना गया है. इन्हें खीर, मालपुए, मीठा हलवा, पूरणपोली, केले, नारियल और मिठाई बहुत पसंद हैं. नवरात्रि के मौके पर उन्हें हर दिन इसका भोग लगाने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, मां को खासकर सभी तरह का हलवा बहुत पसंद है. यदि आप माता के भक्त हैं तो बुधवार और शुक्रवार को स्नान करके आदि शक्ति के मंदिर जाएं और उन्हें ये भोग चढ़ाएं.
 गणेश जी को मोदक या लड्डू अच्छे लगते हैं. बप्पा को मोतीचूर के लड्डू भी पसंद हैं. शुद्ध घी से बने बेसन के लड्डू भी गणेश जी को चढ़ाए जाते हैं. इसके अलावा आप इन्हें बूंदी के लड्डू भी अर्पित कर सकते हैं. नारियल, तिल और सूजी के लड्डू भी गणपति को चढ़ाए जाते हैं.

 हनुमान जी को हलवा, पंच मेवा, गुड़ से बने लड्डू, डंठल वाला पान और केसर भात बहुत पसंद हैं. इसके अलावा बजरंगबली को कुछ लोग इमरती भी चढ़ाते हैं. 5 मंगलवार लगातार हनुमान जी को चोला चढ़ाकर इन चीजों का भोग लगाने से, हर तरह के संकटों का समाधान होता है.

 भगवान कृष्ण को माखन और मिश्री बहुत पसंद है. इसके अलावा खीर, हलवा, पूरनपोली, लड्डू और सैवइयां भी उनको पसंद हैं. इन्हें ज्ञान की देवी माना गया है. मां सरस्वती को दूध, पंचामृत, दही, मक्खन, सफेद तिल के लड्डू और चावल का लावा पसंद है. मां को ये भोग किसी मंदिर में जाकर ‍अर्पित करने चाहिए, तो ज्ञान और योग्यता का विकास होगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *